Menu

Monthly Archives / नवम्बर 2016

आपकी नशीली यादों में डूबकर…

आपकी नशीली यादों में डूबकर,
हमने इश्क की गहराई को समझा,
आप तो दे रहे थे धोखा और,
हमने जानकर भी कभी आपको बेवफा न समझा।

मौहब्बत की मिसाल में…

मौहब्बत की मिसाल में,
बस इतना ही कहूँगा ।
बेमिसाल सज़ा है,
किसी बेगुनाह के लिए ।

बिन बात के ही रूठने की आदत है…

बिन बात के ही रूठने की आदत है,
किसी अपने का साथ पाने की चाहत है,
आप खुश रहें, मेरा क्या है..
मैं तो आइना हूँ, मुझे तो टूटने की आदत है।

ये बेवफा वफा की कीमत क्या जाने…

ये बेवफा वफा की कीमत क्या जाने!!
है बेवफा गम-ऐ मोहब्बत क्या जाने!!
जिन्हे मिलता है हर मोड पर नया हमसफर!!
वो भला प्यार की कीमत क्या जाने!!

Bewafa Shayari

आग दिल मे लगी जब वो खफा हुए…

आग दिल मे लगी जब वो खफा हुए,
महसूस हुआ तब, जब वो जुदा हुए,
कर के वफ़ा कुछ दे ना सके वो,
पर बहुत कुछ दे गये जब वो बेवफा हुए..

चाँद की रातों मे सारा जँहा सोता है…

चाँद की रातों मे सारा जँहा सोता है,
लेकिन किसी की यादों मे कोई बदनसीब रोता हैं,
खुदा किसी को मुहब्त पे फिदा न करे,
अगर करे तो किसी को जुदा न करें।

इश्क़ सभी को जीना सिखा देता है…

इश्क़ सभी को जीना सिखा देता है,
वफ़ा के नाम पर मरना सीखा देता है,
इश्क़ नहीं किया तो करके देखो,
ज़ालिम हर दर्द सहना सीखा देता है!

क्यों आए मेरी जिंदगी में गर जाना ही था…

क्यों आए मेरी जिंदगी में गर जाना ही था,
क्यों हँसाया मुझे गर रूलाना ही था,
क्या मैंने कहा था के मुझे तुम्हारी जरूरत है आओ पास मेरे,
क्यों पास आए गर दूरियों को बढ़ाना ही था..

Sad Shayari

मेरी रूह में न समाती तो भूल जाता तुम्हे…

मेरी रूह में न समाती तो भूल जाता तुम्हे,
तुम इतना पास न आती तो भूल जाता तुम्हे,
यह कहते हुए मेरा ताल्लुक नहीं तुमसे कोई,
आँखों में आंसू न आते तो भूल जाता तुम्हे.

कुछ लोग कहते है की बदल गया हूँ मैं…

कुछ लोग कहते है की बदल गया हूँ मैं,
उनको ये नहीं पता की संभल गया हूँ मैं,
उदासी आज भी मेरे चेहरे से झलकती है,
पर
अब दर्द में भी मुस्कुराना सीख गया हूँ मैं.