Menu

Yaadein Shayari

हमसे पूछो क्या होता है पल पल बिताना

हमसे पूछो क्या होता है पल पल बिताना,
बहुत मुश्किल होता है दिल को समझाना,
यार ज़िन्दगी तोह बीत जायेगी,
बस मुश्किल होता है कुछ लोगो को भूल पाना.

यूँ पलके बिछा कर तेरा इंतज़ार करते है…

यूँ पलके बिछा कर तेरा इंतज़ार करते है,
यह वो गुनाह है जो हम बार बार करते है,
जलकर हसरत की राह पर चिराग,
हम सुबह और शाम तेरे मिलने का इंतज़ार करते है.

तन्हाईयों में मुस्कुराना इश्क है…

तन्हाईयों में मुस्कुराना इश्क है,
एक बात को सबसे छुपाना इश्क है,
यु तो नींद नहीं आती हमें रात भर,
मगर सोते-सोते जागना और जागते-जागते सोना इश्क है.

खुशी मिली तो मुस्कुरा न सके…

खुशी मिली तो मुस्कुरा न सके,
गम मिला तो आंसू बहा न सके,
जिन्दगी का यही राज है,
जिसे चाहा उसे पा न सके,
औऱ इतना चाहा कि उसे भुला न सके।

ना हम रहे दिल लगाने के क़ाबिल…

ना हम रहे दिल लगाने के क़ाबिल,
ना दिल रहा गम उठाने के क़ाबिल,
लगा उसकी यादों से जो ज़ख़्म दिल पर,
ना छोड़ा उस ने मुस्कुराने के क़ाबिल..

तोड़ दो न वो क़सम जो खाई है…

तोड़ दो न वो क़सम जो खाई है,
कभी कभी याद करलेने मैं क्या बुराई है,
याद आप को किये बिना रहा भी तो नहीं जाता,
दिल में जगा अपने ऐसी जो बनाई है.

ज़माने से नहीं…

ज़माने से नहीं, तन्हाई से डरते हैं,
प्यार से नहीं, रुसवाई से डरते हैं,
मिलने की उमंग है दिल में लेकिन,
मिलने के बाद तेरी जुदाई से डरते हैं !

हर घडी एक नाम याद आता है…

हर घडी एक नाम याद आता है;
कभी सुबह, कभी शाम याद आता है;
सोचते हैं हम कि कर लें फिर से मोहब्बत;
फिर हमें मोहब्बत का अंजाम याद आता है।

अपनी सांसों में महकता पाया है तुझे…

अपनी सांसों में महकता पाया है तुझे,
हर खवाब मे बुलाया है तुझे,
क्यू न करे याद तुझ को,
जब खुदा ने हमारे लिए बनाया है तुझे..

जन्नत के दर पर इंतजार हो रहा है…

जन्नत के दर पर इंतजार हो रहा है,
कोई फरिश्ता है जो मेरी रूह लेकर उड़ रहा है,
सुना है जन्नत में कमी नहीं ऐश-ओ-आराम की,
पर तेरी कमी को ये दिल वहाँ भी महसूस कर रहा है..