Menu
ज़रा सी रंजिश पर,ना छोड़,
किसी अपने का दामन
ज़िंदगी बीत जाती है
अपनो को अपना बनाने में..!

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *